Arya by Maithili Sharan Gupt

आर्य
- मैथिलीशरण गुप्त (Maithili Sharan Gupt)

हम कौन थे, क्या हो गये हैं, और क्या होंगे अभी
आओ विचारें आज मिल कर, यह समस्याएं सभी

भू लोक का गौरव, प्रकृति का पुण्य लीला स्थल कहां
फैला मनोहर गिरि हिमालय, और गंगाजल कहां
संपूर्ण देशों से अधिक, किस देश का उत्कर्ष है
उसका कि जो ऋषि भूमि है, वह कौन, भारतवर्ष है

...read more

Aag Jalthi Rahe

आग जलती रहे
- दुष्यंत कुमार (Dushyant Kumar)

एक तीखी आँच ने
इस जन्म का हर पल छुआ,
आता हुआ दिन छुआ
हाथों से गुजरता कल छुआ
हर बीज, अँकुआ, पेड़-पौधा,
फूल-पत्ती, फल छुआ
जो मुझे छुने चली
हर उस हवा का आँचल छुआ

...read more

Miscellaneous Articles

...read more

IBM laptop won't boot up

My biggest peeve is my T-20 IBM laptop. The problem is that it just don't boot up. Here goes the typical behavior:

...read more

PrayogShala - Hindi Section

...read more

Hindi on the Internet

From past few months I have been pursuing hindi resources on net, and it has been a interesting journey. Hindi websites on Internet are gradually increasing, but it's not so easy to find them. Search engines are not yet helpful as lot of content is in different formats/fonts. Hindi's unicode standard has improved the searchability, but it's still a long way to go. Here goes some of the interesting...

...read more

मेरे हिन्दी ब्लोग की शुरुवात

आखिरकार !

पिछले कुछ सालों से मेरा हिन्दी से जैसे नाता ही टुट गया है । अब हिन्दी में लिखते हुए बहुत अजीब सा लगता है। ये ब्लोग एक कोशिश है इस दुरी को मिटाने की ।

मैं यहां पर हर सप्ताह में कम से कम एक बार लिखने का प्रयत्न करुगां । अभी तो हिन्दी में टाईप करने में ही अच्छी खासी मेहनत लग जाती है ।

अगर आप गलती से इस ब्लोग पर आ पहुंचे हैं, तो अनुरोध है कि कुछ टिप्पणी (comment) जरुर छोड़ियेगा । धन्यवाद...

...read more

Khoob Ladi Murdani Voh To Jhansi Wali Rani Thi

खूब लड़ी मर्दानी वह तो झांसी वाली रानी थी
- Subhadra Kumari Chauhan

सिंहासन हिल उठे राजवंशों ने भृकुटी तानी थी
बूढ़े भारत में आई फिर से नयी जवानी थी
गुमी हुई आज़ादी की कीमत सबने पहचानी थी
दूर फिरंगी को करने की सबने मन में ठानी थी

चमक उठी सन सत्तावन में, वह तलवार पुरानी थी
बुंदेले हरबोलों के मुँह हमने सुनी कहानी थी
खूब लड़ी मर्दानी वह तो झांसी वाली रानी थी

...read more

Kyonki Sapna Hai Abhi Bhi

क्योंकि सपना है अभी भी
- धर्मवीर भारती (Dharamvir Bharti)

...क्योंकि सपना है अभी भी
इसलिए तलवार टूटी अश्व घायल
कोहरे डूबी दिशाएं
कौन दुश्मन, कौन अपने लोग, सब कुछ धुंध धूमिल
किन्तु कायम युद्ध का संकल्प है अपना अभी भी
...क्योंकि सपना है अभी भी!

...read more

Heroes / Personalities of the India

A country stands on the shoulders of its heroes .. And no, I am not talking about movie actors/actresses here (that's a real misuse of the word 'hero'). I am talking about the people who are living or lived a life of courage and truth; people who stood firm even in front of great adversity without a doubt in their hearts; people that becomes ideals for generations, bringing hope and light to many-...

...read more